कार पर लोन लेते समय ध्यान रखे इन नियमों का, नहीं तो हो सकता है आपका बहुत बड़ा नुकशान

Vikas Sharma
By Vikas Sharma  - Senior Editor

बहुत से लोग अपनी कार के मालिक होने का सपना देखते हैं। इस सपने को हकीकत में बदलने के लिए लोग समय के साथ पैसे बचाते हैं। हालांकि, आजकल बहुत से लोग ऋण पर कार खरीदने और उनके लिए किस्तों (ईएमआई) में भुगतान करने का विकल्प चुनते हैं।. इस तरह, उन्हें एक बार में पूरी राशि का भुगतान नहीं करना पड़ेगा। लेकिन अक्सर, लोगों को अपनी मासिक आय और कार ऋण ईएमआई का प्रबंधन करना मुश्किल हो जाता है, जिससे भविष्य में वित्तीय समस्याएं हो सकती हैं। यदि आप ऋण पर कार खरीदने की सोच रहे हैं और आप एक वेतनभोगी कर्मचारी हैं, तो यह लेख आपको बताएगा कि आपको कितने पैसे के लिए ऋण लेने की आवश्यकता होगी।

क्या है वेतन और कार लोन का एडजस्टमेंट 

यदि आप हर महीने वेतन कमाते हैं, तो आपको कार ऋण पर अपनी वार्षिक आय के आधे से अधिक खर्च नहीं करना चाहिए। यानी अगर आप हर साल 8 लाख रुपए कमाते हैं तो आपको कार लोन पर सिर्फ 4 लाख रुपए खर्च करने चाहिए, जिसमें कार की ऑन-रोड कीमत भी शामिल है। अगर आप सालाना 15 या 20 लाख रुपये कमाते हैं, तब भी आपको 50% के समान नियम का पालन करना चाहिए। साथ ही आपको अपने बजट के हिसाब से ही कार का चुनाव करना चाहिए।

लोन लेते समय रखें ध्यान 

कार के लिए ऋण लेते समय 20-4-10 नियम पालन करने के लिए एक अच्छा दिशानिर्देश है। यह नियम बताता है कि आप 20% डाउन पेमेंट डालते हैं, 4 साल की अधिकतम ऋण अवधि चुनते हैं, और अपने मासिक कार भुगतान को अपनी मासिक आय के 10% या उससे कम पर रखते हैं। इस नियम का पालन करने से आप बाद में होने वाली परेशानियों से बच सकते हैं।

Share this Article